MERA KONA

Just another weblog

13 Posts

6 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 7507 postid : 1306352

वक्त तो चलेगा…हम कुछ खोयें या पायें

Posted On 10 Jan, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मित्रों भारत में पुरूषों की औसत आयु ६४ वर्ष है जिसमें औसतन ८ वर्ष तक बिमारी में रहते हैं अत: स्वास्थय ५६ वर्ष कि उम्र तक ही रहती है| मैं इसका आधे २८ को पार कर चुका हुं | बहुत कुछ पाया और कुछ ऐसा भी है जिसको छौड़ा था | कुछ खोया भी है. .. आज मैं जहां हुं खुश हुं संतुष्ट हुं| आखिर जितना प्रयास किया उतना पाया जिंदगी को अपने तरीके से जिया| खुद चुना और बनाया अपना रास्ता…….. आगे बढने कि ईच्छा है|

जब परेशान होता हूं तब my favorite quote is “I am always happy.” ऐसा नहीं हमेशा जीत ही मिली हो…. , हारा भी हूं लेकिन निराश नहीं हुआ… खुद को फिर से समेटा और फिर से एक कदम आगे बढ़ाया।

मेरी सौ वर्ष तक जीने की इच्छा भी नहीं है| मुझे पहले महसूस होता था my life is too short and I have to do alot of… बीच में कुछ ऐसे लोगों से भी मिला कि मैं इस लाइन को भूलने लगा था, दिल के किसी कोने में कहीं न कहीं बाकी लोगों की तरह घर परिवार समाज के बारे में सोचने और जीने की कुछ ख्वाहिस सी जन्म लेने लगी थी।

समय हमेशा चलता है॥ जो पाया वो तो सबको नजर आ जाता है लेकिन जो खोया वो दिल को महसूस होता है,!! पीछे मुड़कर देखता हूँ…. कभी मेरे बी़ टेक के साथियों ने मुझे कालेज कैंटिन में नहीं देखा होगा, ना ही कभी खाली टाईम में मस्ती करते देखा होगा | मेरे बैच कि अधिकतर लडकियों से मैनै कभी बात नहीं की!! मूवी , सिगरेट , शराब का क्या मतलब कहुं… और हां बी.टेक में औसत से भी नीचे का छात्र मानता हुं खुद को!!

मुद्दे पर आते हैं…..
मित्रो मैं आज चाहुं भी तो क्या वो बीते दिन वापस ला सकता हुं?? कभी नहीं !!!!!!!
क्या अब कैंटिन में जाकर बैठ सकता हूं ?? ॥ कभी नहीं…..
हो सकता है मैं आज बहुत सफल बन जाऊँ ….. व्यवसाय या कैरियर की उचाइयों को छु लूँ … लेकिन क्या वो समय वापस आएगा …
सोचते हैं वो समय क्यूँ और कैसे खोया ?
सपने हाँ सपने …. ऐसे सपने जो न तो सोने देते हैं ना जागने… सबके होते हैं सपने ….. छोटे या बड़े …. कम या ज्यादा……..
हम अपने सपने बुनते हैं और शुरू हो जाते हैं उनको पंख लगाने में …… आपके भी कुछ सपने होंगे… नहीं हैं तो बनाओ….
सो सब से पहले अपना टारगेट बनाओ और प्रयास करो लेकिन जो समय के साथ है उस समय को भी जियो…आज को भी जियो… कहीं ऐसा ना हो की .अच्छे कल के लिऐ बुने हुऐ सपनों को पुरा करने में ही इतना समय गुजार दो कि जब सपने पुरे हों भी तो कोई आपको मुबारकबाद देने वाला भी ना हो…
सब पीछे छुट गया….. क्यूंकी साला ये सपने होते ही ऐसे हैं… कुछ चाहते कुछ हशरतें …. और ये सब होते ही ऐसे हैं की…
लेकिन सोचो जिनके लिऐ आपने अपना नींद चैन खोकर सपने पुरे किये अगर वो ही आपका साथ छौड़ कर जा चुके हों…
क्यूंकी समय नहीं रुकता… वक्त तो चलेगा….
आप फ़ेल हो सकते हैं…………. आप रुक सकते हैं ….. आप ठोकरें खा सकते हैं …. आप लेट हो सकते हैं… लेकिन…
लेकिन वक्त ……. वक्त का क्या ….. वक्त नहीं रुकेगा …
न वो देर से आएगा ……… न पहले ……. साथ ही ये जमाना भी …..
सबकी अपनी जरूरतें हैं….. अपने राशते ….. अपने नजरिया ….. और सबकी अपनी प्राथमिकता……
ये दुनिया है यहां कोइ आपका इंतजार नहीं करेगा.. रिश्तों को समय दो… खुद को समय दो… जो पल जाऐगा वो कभी नहीं आऐगा |
एक बहुत जरूरी बात जीवन में बहुत सी चीजें ऐसी होती हैं जिनको जब चाहो पा सकते हो लेकिन कुछ चीजें समय के साथ ही मिल सकती थीं ऐसी बातों का विशेष ध्यान रखना है| मानलो आप किसी लड़की से शादी करना चाहते हो तो आपके पास तभी तक का समय है जब तक उसकी कहीं नही होती.. कॉलेज टाइम/ दोस्त और बहुत कुछ… क्या फिर से आयंगे ये सब … कुछ चीजे लिमिटेड होती हैं खास ध्यान दो… किसी को हो सकता है कोई गाड़ी खरीदनी है वो कभी भी खरीद सकता है अगर कम्पनी बेचना बन्द कर दे तब भी पुरानी तो मिल जाऐगी ना… ये लिमिट्ड नहीं है.. बडी़ बात है हिम्मत नही हारनी है |

बहुत कुछ ऐसा है जिसको मैने चाहा लेकिन ना पा सका.. लेकिन ऐसा नहीं की प्रयास ना किया हो…पूरी जान लगाकर … सेलफिश भी बनो… खुद के लिऐ जियो!! और हाँ अगर आपको लगता है की आपके पास समय नहीं होता तो सबके पास २४ घंटे ही हैं आपको ही मैनेज करना है सब. क्या खोना है क्या पाना है.



Tags:                                                                                                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran